नाहन में पुलिस अधीक्षक की प्रेसवार्ता, विभिन्न मामलो पर जानकारी मीडिया के साथ की साझा

नाहन || 16 मार्च | राकेश नंदन | जिला मुख्यालय नाहन में आज एसएसपी (SSP) सिरमौर रमन कुमार मीणा ने जिला सिरमौर में विभिन्न धाराओं में दर्ज मामलो पर पुलिस द्वारा की जा रही कार्यवाही पर मीडिया के साथ जानकारी साझा की। इस अवसर पर उनके साथ ASP सिरमौर योगेश रोल्टा समेत DSP हेडक्वाटर रमाकांत ठाकुर भी मौजूद रहे। मीडिया को जानकारी देते हुए एसएसपी (SSP) मीणा ने चोरी एवं पशु चोरी से संबंधित दर्ज मामले में जानकारी देते हुए बताया की मामला धारा 379, 307,120 B IPC & 25-54-59  Indian Arms Act पुलिस थाना काला आम्ब जिला सिरमौर में दिनांक 05-03-2024 को सुरेन्द्र पुत्र भूलर सिंह निवासी गांव कटोला नाहन द्वारा पुलिस थाना कालाआम्ब में मामला दर्ज करवाया गया था।

मीणा ने बताया कि शिकायतकर्ता अनुसार 4 मार्च को शिकायतकर्ता ने अपनी भैंसों व गाय को हर रोज की तरह अपनी पशुशाला में बांध रखा था। रात को करीब 2.30 बजे उन्होंने एक भैंस खुली हुई देखी तो वह अपनी पशुशाला की तरफ गया तो मेन गेट व पशुशाला का गेट खुले देख दो अन्य भैंसों को पशुशाला से गायब पाया। इसके तुरंत बाद वो मोटर साईकिल लेकर सड़क की तरफ गये जंहा उन्होंने मोटर साईकिल की रोशनी में दोनों भैंसों को भागकर वापिस आते देखा। वंही उन्हे मोटरसाईक्ल की रोशनी में सड़क की बांई तरफ एक टैम्पू भी खड़ा दिखाई दिया। शक होने पर उन्होंने शोर किया और टैम्पू को पकड़ने की कोशिश की लेकिन टैम्पू चालक टैम्पू को लेकर सैनवाला की तरफ भाग गया। उक्त टैम्पू की बैक साईड में नम्बर प्लेट नही थी व टैम्पू तरपाल से ढका था। जब उन्होंने मोटर साईकिल से पीछा करते हुए टैम्पु को पकडने की कोशिश की तो टैम्पू की कण्डक्टर साईड से टैम्पू में बैठे व्यक्ति ने उनकी तरफ फायर किया जिससे वो रूक गये और टैम्पू चालक टैम्पू को कालाआम्ब की तरफ भगाकर ले गया।

SSP मीणा ने बताया की इस मामले के साथ इसी प्रकार के अन्य मामलो को देखते हुए विशेष अन्वेषण दस्ते (SIT) का गठन किया गया जिसमे रमाकान्त ठाकुर उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय नाहन के पर्यवेक्षण में उप.नि. मोहर सिंह प्रभारी पुलिस थाना कालाआम्ब के नेतृत्व में उप.नि.अच्छर सिंह, मु0आ0 जसबीर सिंह, आ0 चमन पुलिस थाना कालाआम्ब व आ0 चमन पुलिस थाना सदर नाहन को सम्मिलित किया गया।

SSP रमण कुमार मीणा ने जानकारी देते हुए बताया की जांच के दौरान पशु चोरी की उपरोक्त सभी वारदातें सोमवार के दिन होनी पाई गई। चूंकि मंगलवार के दिन गागलहेडी उतरप्रदेश में पशु मण्डी लगती है इसलिए इस बात की प्रबल सम्भावना थी कि कालाआम थाना के क्षेत्राधिकार से चोरी पशु भी उतर प्रदेश की तरफ गए है। जिस पर अलग दिशाओं में 8 मुख्य मार्गों से होते हुए 74 लिंक मार्गो से 68 सी.सी.टी.वी. कैमरा जो स्थानीय लोगों के घरों, संस्थानो, चौराहों इत्यादि पर लगे हुए थे को देखते हुए लगभग 98 किलो मीटर का रास्ता तय कर 10 दिनों की दिन रात की मेहनत से मुख्य आरोपियों व उन्के गाँवों की पहचान की गई। ऐसे में जब वारदात में प्रयोग किए गए वाहन पर कोई वाहन नम्बर भी नहीं था।

जानकारी अनुसार CCTV से इस बारदात में शामिल टेम्पों हरियाणा राज्य नम्बर  HR 58 C-5484 पाया गया जिस पर 15 मार्च को हरियाणा व उतर प्रदेश की सीमा पर नजद हथनी कुण्ड  के नजदीक जिला यमुनानगर हरियाणा से आरोपी  असलम उर्फ इसलाम पुत्र नियामुल दीन गांव खैरी बास डा0 ताजे वाला तहसील व थाना प्रताप नगर जिला यमुना नगर ( हरियाणा)  आयु 29 वर्ष एवं सह आरोपी सदाम पुत्र रिजवान निवासी गांव मुजाहिद पुर डा0 मजफराबाद थाना फतेहपुर जिला सहारन पुर उतर प्रदेश आयु 24 वर्ष को सहारनपुर उतर प्रदेश से नियमानुसार गिरफ्तार किया गया। आरोपी सद्दाम ने वारदात में इस्तेमाल टेम्पू,व आरोपी असलम ने  टेम्पू की तिरपाल व अपने मकान के आंगन से फायरआर्म व 05 रौंद बरामद करवाए गये है।SSP ने बताया की आरोपी सद्दाम के विरूद्ध चोरी, गौवध, गैंगस्टर अधिनियम के अन्तर्गत अभियोग संख्या 115/2018, 11/2019, 141/2022, 228/22 व 85/2023 हरियाणा व उतर प्रदेश राज्य में पंजीकृत है तथा आरोपी असलम के विरूद्ध चोरी का एक अभियोग 138/2022 पुलिस थाना माजरा हिमाचल प्रदेश में पंजीकृत है।

मीणा ने आरोपियों के बारे में जानकारी देते हुए बताया की आरोपियो से पूछताछ व साक्ष्यो के आधार पर पाया गया कि आरोपी सद्दाम पशुओं की मोहरी (पशु बाधने बाली रस्सी) को बेचने का काम करता था तथा मोहरी बेचने के बहाने हिमाचल में लोगो के घर आकर पशुओं की रेकी करता था। रेकी करने के बाद यह पशु तस्कर बिना नम्बर का टेम्पु को तिरपाल से ढककर सोमवार को हिमाचल राज्य में प्रवेश करते थे तथा पशुओं को रात में चुराकर दूसरे दिन सहारनपुर पशु मण्डी में ले जाकर बेच देता था। इस दोरान आरोपी वारदात के बाद ट्रेक न किये जा सके वो मोबाइल फोन का इस्तेमाल भी नही करते थे।

वंही एक अन्य मामले में जानकारी देते हुए SSP मीणा ने बताया की रेणु ठाकुर W/O अजय तोमर कोटी धमान ददाहू सिरमौर की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था जिसमे 11 मार्च को सुबह बस में अधिक भीड़ होने के कारण अन्जान व्यक्तियों पर शिकायतकर्ता की अटेची से गहने व घड़ी गायब करने के आरोप लगे थे। इस शिकायत पर कार्यवाही करते हुए सिरमौर पुलिस ने चोरी करने वाले आरोपी राजेन्द्र पुत्र जिले सिंह गांव शिशार जिला हिसार उम्र 39 वर्ष, आरोपी कृष्ण पुत्र जिले सिंह गांव शिशार जिला हिसार उम्र 37 वर्ष, सतपाल पुत्र गोगू राम गांव भोतवाला जिला जिन्द उम्र 55 वर्ष, सोनू पुत्र बाला राम निवासी गांव भोतवाला जिला जिन्द उम्र 36 साल एवं बारू पुत्र दया चन्द निवासी गांव बकलाना जिला हिसार उम्र 53 वर्ष को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।उन्होंने बताया की उक्त आरोपियों से पूछताछ व साक्ष्यों के आधार पर पाया गया कि यह गैंग असहाय लोगों, बच्चे वाली औरतों व बुजुर्गों की मदद करने के बहाने से भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों व बसों में जाकर चैन स्नैचिंग, जेबकतरी व बैगों को काटकर वारदात को अंजाम देते हैं। इस मामले में पुछताछ के दौरान उक्त सभी आरोपियों ने इन पर इससे पहले कोई भी अन्य मामला दर्ज होने बारे में नहीं बताया है जिसकी जांच जारी है। मीणा ने बताया की मामले में पांच व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिन्हे 16 मार्च को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया जिनका 03 दिन का पुलिस रिमाण्ड लिया गया है, जिसमे आगामी जांच जारी है।

एक अन्य मामले पर जानकारी देते हुए SSP रमन कुमार मीणा ने बताया की हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा नशे के खात्मे के लिए पूर्णतय: दृढ़ संकल्प है।  इसी कड़ी में जिला सिरमौर, पुलिस द्वारा नशे के कारोबारियों की धर पकड़ के लिए विशेष अभियान चलाया गया है। इस अभियान के अन्तर्गत जिला सिरमौर पुलिस द्वारा गत दिनों में नशे के कारोबारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करते हुए, नशे के बड़े- 2 कारोबारियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने बताया की हालांकि इस वर्ष जिला सिरमौर के विभिन्न पुलिस थानों में नारकोटिक्स ड्रग्स, साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम (ND&PS Act) के 21 मामले दर्ज कर 33 नशा तस्करों को सलाखों के पीछे पहुंचाया है। उन्होंने बताया की  उक्त मामलों में तीन मामले ऐसे हैं जिनमे पुलिस द्वारा व्यावसायिक मात्रा में नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले अपराधियों को भी पुलिस द्वारा गिरफ्त में लिया गया है।

मीणा ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया की उक्त मामले में AHTU / WPS Nahan के Detection Cell द्वारा गुप्त सूत्रों से प्राप्त सुचना के आधार पर गाड़ी न0 HR12Y-8814 में सवार एक व्यक्ति रोशन लाल उर्फ विक्की डोन, निवासी गांव जुरासी खुर्द, तह0 पैहवा कुरुक्षैत्र हरियाणा जो पिछले कईं महीनों से हरियाणा व हिमाचल के सीमावर्ती ईलाकों में नशे के इन्जैक्शन, हैरोईन व नशीले कैप्सूल बेचने का कार्य कर रहा था, को खजूरना पुल से बिक्रमबाग लिंक रोड़ पर धर दबोचने में सफलता प्राप्त की थी। पुलिस टीम ने तलाशी के दौरान रोशन लाल उपरोक्त के कब्जे से 960 नशीले कैप्सूल (PARVION SPAS PLUS)  तथा 22.92 ग्राम हेरोईन/ चिट्टा बरामद करने में सफलता प्राप्त की थी। इस पर आरोपी के विरुद्ध पुलिस थाना सदर नाहन में नारकोटिक्स ड्रग्स एवं साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम (ND&PS Act) के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया जाकर मामले में संलिप्त आरोपी रोशन लाल को गिरफ्तार किया गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए तथा नशे के तस्करों की जड़ तक पहुचाने के लिए ssp रमण कुमार मीणा द्वारा रमाकान्त ठाकुर, उप- पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) के नेतृत्व में एक SIT का गठन किया। SIT द्वारा मामले की जांच के दौरान आरोपियों से पूछताछ के नशे की सप्लाई चैन के बारे में पड़ताल करने पर पाया गया कि उपरोक्त दोनों तस्कर हेरोईन/ चिट्टा की सप्लाई दिल्ली में रह रहे एक नाईजिरियन व्यक्ति से लेकर आते है । जिसके आधार पर SIT द्वारा नाईजिरियन मूल के तस्कर UCHECHUKWU EMMANUEL EZE, को दिल्ली से गिरफ्तार करके उसके कब्जे से 32.45 ग्राम हेरोईन/ चिट्टा भी बरामद किया गया।  मामले में अभी तक कुल पांच आरोपीयों को गिरफ्तार किया जा चुका हैं जो अभी न्यायिक हिरासत में हैं। इनमें रोशन लाल उर्फ विक्की डोन, निवासी गांव जुरासी खुर्द जिला कुरुक्षेत्र हरियाणा, Uchechukwau Emmanuel, r/o 13 Badejo Street Irawu, Ikoradu Logas state Nigeria, तेज प्रताप भाटिया निवासी पूजा विहार खोजकीपुर जिला अम्बाला हरियाणा, राजविन्द्र कौर पत्नि तेज प्रताप भाटिया निवासी पूजा विहार खोजकीपुर अम्बाला हरियाणा, एवं नीतु देवी निवासी गांव डेरा गुरु चौका जिला पंचकुला हरियाणा शामिल है।

SSP सिरमौर रमन कुमार मीणा ने अन्य मामलो में पुलिस की कार्यवाही को लेकर कहा की सात मार्च को पुलिस थाना शिलाई की टीम ने गश्त के दौरान गुप्त सुचना के आधार पर एक व्यक्ति मंगत राम, निवासी गांव कोठी, डाकघर मालत, तहसील कुपवी, जिला शिमला के कब्जे से 1.093 किलोग्राम चरस ब्रामद करने में सफ़लता प्राप्त की है। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि वह इस चरस को शिवरात्रि के मौका पर अलग -2 लोगों को बेचने के लिए ला रहा था। आरोपी के विरुद्ध पुलिस थाना शिलाई में नारकोटिक्स ड्रग्स, साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम (ND&PS Act) के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया गया है। वंही अन्य मामले में पुलिस थाना रेणुका जी टीम को गुप्त सूत्रों से सूचना प्राप्त हुई थी कि एक गाड़ी न0 HP52A-4584 में सवार  03 युवक ठियोग, राजगढ, रेणुका जी तथा पावँटा होते हुए चरस की खैप लेकर हरिद्वार की तरफ जा रहे हैं। जिस पर पुलिस टीम द्वारा उक्त गाड़ी को रुकवाकर तलाशी ली गई थी तथा तलाशी के दौरान पुलिस टीम ने निम्नलिखित आरोपियों के कब्जे से  3.010 किलोग्राम चरस बरामद करने में सफलता हासिल की है। उक्त मामले में नरेन्द्र कुमार निवासी VPO व तहसील थुनांग, जिला मंड़ी हि0प्र0 ललित कुमार गौतम निवासी गाँव बड़ा गाँव तहसील झंडूता जिला बिलासपुर हि0प्र0 तथा छायाकान्त निवासी गाँव मलाड़ डाकघर चिऊणी तहसील थुनांग जिला मंड़ी हि0प्र0 को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया की उक्त मामले में संलिप्त उपरोक्त तीनों आरोपी 28 मार्च तक न्याययिक हिरासत में हैं।

अपने संबोधन में SSP सिरमौर ने साफ़ शब्दों में कहा की जिला में घटित विभिन्न आपराधिक मामलों में लगभग 20 बाहरी राज्यों के अपराधियों की संलिप्तता पाई गई है ऐसे में अगर कोई अपराधी  यह सोचता है की जिला सिरमौर में किसी वारदात को अंजाम देकर वो बच जाएगा तो यह उस अपराधी की सबसे बड़ी मुर्खता होगी। मीणा ने चेतावनी देते हुए कहा है कि जिला सिरमौर में अपराध करने की नियत से प्रवेश व प्रदेश में शांति भंग करने वाले अपराधियों को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा। ऐसे अपराधियों का सलाखों के पीछे जाना तय है।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *